UAN Number kya hota hai?

. 1 min read
UAN Number kya hota hai?

जो लोग सरकारी कंपनी में नौकरी करते हैं उनके लिए यूएएन (UAN) नंबर का होना बहुत ज्यादा जरूरी है। एक इपीएफ (EPF) एम्प्लॉई के लिए UAN नंबर की आवश्यकता बहुत अधिक पड़ती है। ऐसे में कई लोगों को UAN के बारे में ठीक से पता नहीं होता है। और वो जानना चाहते हैं कि आखिर UAN नंबर है क्या और इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है। इसलिए आज हम यह पोस्ट उन लोगों के लिए लेकर आए हैं जो UAN के बारे में पूरी जानकारी चाहते हैं।

तो आइए इसी के साथ हम आगे बढ़ते हैं और जानते हैं कि UAN नंबर क्या है?

UAN number kya hai | UAN नंबर क्या होता है? :

सबसे पहले UAN नंबर जानने के लिए हमें UAN का फुल फॉर्म जानना बहुत जरूरी है।

UAN का फुल फॉर्म यूनिवर्सल एकाउंट नंबर (Universal Account Number) है। यह 12 डिजिट का एक नंबर होता है, जो EPFO (Employee Provident Fund Organisation) के माध्यम से अपने PF खाताधारकों को दिया जाता है।

सरकारी जॉब करने वाले लोग जो भी PF या EPF की सुविधा ले रहें हैं, उन लोगों के पास यूएएन (UAN) नंबर होना आवश्यक है। क्योंकि अगर आपको एक बार UAN नंबर दिया गया है तो उसके बाद एक ही नंबर लाइफटाइम के लिए आपके पास रहता है।

EPFO की  किसी भी प्रकार की सूचना के लिए यूएएन (UAN) नंबर अनिवार्य है। और अगर आप EPFO की ऑनलाइन सर्विस का यूज़ करना चाहते हैं तो UAN नंबर एक्टिवेट होना जरूरी है। तो इस आर्टिकल के जरिए हम आपको UAN नंबर के बारे में बताएंगे। इसको एक्टिवेट करने का तरीका और उसके लाभ भी बताएंगे।

जॉब करने वाले ज्यादातर लोग UAN नंबर क्या है यह बहुत अच्छे से जानते हैं। लेकिन इसमें कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपने UAN नंबर को कैसे जनरेट करना है नहीं जानते हैं। इसलिए यह पोस्ट खासतौर पर उनके लिए है जो नये Employee हैं। और UAN नंबर से जुड़ी जानकारी के बारे में नहीं जानते हैं।

PROVIDENT FUND open book on table and coffee cup

PF kya hota hai | PF क्या होता है?

UAN की जानकारी लेने के लिए PF की जानकारी भी लेना जरूरी है। पी एफ (PF) का फुल फॉर्म प्रोविडेंट फंड (Provident found) होता है। कोई भी प्राइवेट या सरकारी कंपनी में काम करने वाले व्यक्ति की जितनी भी सैलरी होती है उसमें से हर महीने कुछ पैसा काट कर उनके पीएफ (PF) अकाउंट में डाला जाता है उसे प्रोविडेंट फंड (Provident Fund) कहा जाता है।

पहले के जो नौकरी कर्मचारी थे उन्हें नौकरी बदलने पर PF का पैसा ट्रांसफर कराने में बड़ी दिक्कत होती थी। पुराना और नया PF अकाउंट एक ही व्यक्ति का है यह साबित करने में कुछ ज्यादा समय लग जाता था।

लेकिन आज के इस बदलते और तरक्की करते हुए दौर ने हर कर्मचारी को एक नई सुविधा प्रदान की है। EPFO इंडिया ने जॉब कर्मचारियों को परेशानी से निजात दिलाने के लिए UAN नंबर का सिस्टम जारी किया है।

12 डिजिट के अंकों वाला UAN नंबर आपकी पहली नौकरी से लेकर आगे की सारी नौकरियों या रिटायरमेंट तक एक ही रहता है। नौकरी बदलने पर आपको जो भी नया PF अकाउंट दिया जाता है उसे आपके UAN नंबर के साथ जोड़ दिया जाता है। इससे आप अपने सारे EPF अकाउंट एक ही यूएएन नंबर के सहारे मैनेज कर सकते हैं।

ज्यादा से ज्यादा लोग इस सुविधा से जुड़ते जा रहे हैं। और UAN नंबर के जरिए आप अपने पीएफ खाते के सारे काम खुद ही घर बैठे आसानी से Online कर सकते हैं।

PF बैलेंस पता करना हो या EPF पासबुक के बारे मे जानना हो या फिर EPF अपडेट EPF ट्रांसफर हो। सारे काम UAN (Universal account number) के जरिए ही किया जा सकता है।

UAN नंबर की शुरुआत :

भारत में इसकी शुरुआत भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई थी। इसकी शुरुआत 10 अक्टूबर 2014 में हुई और तब से लेकर आज तक हर कंपनी अपने वर्कर को यूएएन (UAN) यूनिवर्सल अकाउंट नंबर प्रदान करती है।

अगर आप अपनी नौकरी बदलते हैं। और किसी नई कंपनी में ज्वॉइन होते हैं तो आप अपना पुराना यूनिवर्सल नंबर नई कंपनी में इस्तेमाल कर सकते हैं। अपनी नई कंपनी में आप नए PF को पुराने यूएएन अकाउंट से जोड़ सकते हैं। या फिर पहले वाले PF को ही इस्तेमाल करना चाहें तो कर सकते हैं।

अगर आप चाहें तो घर बैठे खुद से ही अपने PF नंबर से अपना UAN नंबर जनरेट कर सकते हैं।

UAN या यूनिवर्सल एकाउंट नंबर के फायदे :

UAN नंबर में रजिस्टर्ड  होने के बाद आपको अनेक तरह के फायदे मिलेंगे। आपके PF अकाउंट से जुड़ी सारी सुविधाएं आपको आसानी से प्राप्त होंगी। UAN नंबर के फायदे इस तरह से हैं -

(1) UAN को एक्टिवेट करने के बाद आप EPFO की सभी Online सेवाओं का प्रयोग आसानी से कर सकते हैं। UAN को एक्टिवेट होने के बाद आपको UAN पोर्टल का एक डैशबोर्ड दिखाई देता है। इसी डैशबोर्ड पर जाकर आप EPF से सम्बंधित अपना कोई भी काम कर सकते हैं।

(2) UAN नंबर से आप अपनी EPF पासबुक भी ऑनलाइन घर बैठे डाउनलोड कर सकते हैं।

(3) इस पासबुक में आप अपने PF एकाउंट का अपडेट होता हुआ स्टेटमेंट भी देख सकते हैं।पिछले महीने का कितना पैसा जमा हुआ है। उसकी सारी डिटेल्स आप आसानी से देख सकते हैं।

(4) UAN एक्टीवेट होने के बाद आप अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से मिस कॉल देकर अपना PF बैलेंस आसानी से पता कर सकते हैं।

(5) इसके अलावा आप मैसेज द्वारा भी अपने PF बैलेंस की जानकारी अपने क्षेत्र की भाषा में ले सकते हैं।

(6) EPFO आपके बैलेंस की जानकारी भारत की इन 10 प्रमुख भाषाओं में उपलब्ध कराता है। जो इस प्रकार हैं - अंग्रेज़ी, हिंदी, तेलुगु, पंजाबी, गुजराती, मराठी, कन्नड़, तमिल, मलयालम, बंगाली। इनमें से आप किसी भी भाषा का चुनाव करके अपने बैलेंस से सम्बंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

(7) आप UAN पोर्टल पर अपने पहचान सम्बन्धी दस्तावेज (KYC Details) अपलोड कर सकते हैं। डिजिटल ज़रूरत के लिए यह आपके Identity Verification में काम आती है।

(8) UAN एक्टिव होने के बाद अगर आप चाहें तो अपना PF का पैसा निकाल भी सकते हैं और Online इसे ट्रांसफर भी कर सकते हैं।

(9) इसके अलावा आप एक ही UAN नंबर से सभी PF एकाउंट्स को जोड़ सकते हैं। वहीं इसके द्वारा आप अपने पिछले और Current PF एकाउंट का रिकॉर्ड या स्टेटमेंट निकाल कर देख सकते हैं।

UAN number kaise activate kare | UAN को Activate कैसे करें? :

UAN को आप ऑनलाइन नीचे लिखे हुए स्टेप्स के अनुसार घर बैठे बड़ी आसानी के साथ एक्टिव कर सकते हैं। वहीं UAN के रजिस्ट्रेशन के लिए आपको निम्नलिखित डॉक्यूमेंट्स की जरूरत होती है। इसलिए नीचे बताए गए सारे डाक्यूमेंट्स भी आपके पास होने आवश्यक हैं, तभी आप UAN को एक्टीवेट कर पाएंगे -

(1) आपके पास मेंबर आईडी (Member ID) होनी चाहिए, जो आपको आपकी सैलरी की रसीद से मिल सकती है।

(2) आपके पास आपका आधार कार्ड या फिर पैन कार्ड (PAN Card) होना ज़रूरी है, जो आपके इपीएफ (EPF) एंपलॉयर पोर्टल पर रजिस्टर्ड हो।

(3) आपकी डेट ऑफ बर्थ (Date of Birth) जो ईपीएफ (EPF) के साथ जुड़ी हो।

(4) एम्प्लॉयर का पूरा नाम होना चाहिए, जो PF रिकॉर्ड में दर्ज हो।

(5) मोबाइल नंबर होना चाहिए, जिसपर आपका OTP नंबर दिया जाएगा।

man touch bar search and Two Businessman working at office desk and using a digital touch screen tablet

इन सारे आवश्यक डॉक्यूमेंट के साथ आप नीचे लिखे हुए स्टेप्स के अनुसार अपने UAN का एक्टिवेशन कर सकते हैं -

Step - 1 : सबसे पहले आपको UAN के रजिस्ट्रेशन के लिए ईपीएफओ (EPFO) पोर्टल की वेबसाइट पर जाना होगा।

Step - 2 : फिर आप Know Your UAN Status पर क्लिक करें। इस लिंक पर जैसे ही आप क्लिक करेंगे आपके सामने एक पेज खुलकर आएगा।

Step - 3 : इस पेज पर आपको अपने आधार कार्ड, पैन कार्ड, या फिर मेंबर आईडी में से किसी एक को सेलेक्ट करना होगा।

Step - 4 : अब आपको एक बॉक्स दिखेगा जिसमें आपको अपना नाम इपीएफ (EPF) के अनुसार डालना होगा।

Step - 5 : अब आप अपना UAN नंबर, डेट ऑफ बर्थ, मोबाइल नंबर, और कैप्चा कोड डालने के बाद Get Authorisation पिन पर क्लिक कर दें।

Step - 6 : उसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर OTP आएगा। उस OTP को डालने के बाद सारी Details Verify कर लें। और फिर I Agree पर क्लिक कर दें।

Step - 7 : इतना करने के बाद आपका Activation कंप्लीट हो जाएगा। फिर कम से कम 5 से 6 घंटे के बाद आप इसे PF अकाउंट के लिए यूज़ कर सकते हैं।

ऊपर आपने जाना कि UAN नंबर क्या है उसके फ़ायदे क्या हैं। उसको एक्टीवेट करने के लिए आपको कौन कौन से डॉक्यूमेंट्स की जरूरत पड़ती है। UAN को एक्टीवेट करने का तरीका क्या है। इन पॉइंट्स को पढ़ने के बाद आपको यूएएन की अच्छे से जानकारी मिल गई होगी।

इसके अलावा अगर आप चाहें तो मैसेज द्वारा भी अपने PF खाते की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। आपको अपने मोबाइल नंबर से जो (UAN में Registered हो) 7738 299899 पर EPFOHO UAN लिखने के बाद मैसेज के ज़रिए सेंड करना होगा। उसके बाद आपको मसेज द्वारा आपके मोबाइल नंबर पर आपके PF खाते की जानकारी दी जाएगी।

यह भी पढ़े :

1) जानें आधार कार्ड कैसे डाउनलोड करें हिंदी में
2) Aadhar Card se loan kaise milega: पूरा तरीका यहाँ देखें
3) कैसे कर सकते हैं Tiffin service business की शुरुआत?
4) जानिए Amazon par business shuru करने की सही प्रक्रिया क्या है?

OkCredit के ब्लॉग के साथ पाएँ बेस्ट बिज़नेस आइडीयाज़ और बिज़नेस टिप्स कई भाषाओं में जैसे की हिंदी, अंग्रेज़ी, मलयालम, मराठी और भी कई भाषाओं में.
डाउनलोड करें OkCredit अभी और छुटकारा पाएँ रोज़ की झंझट से.
OkCredit 100% भारत में बनाया हुआ ऐप है!