You've successfully subscribed to OkCredit Blogs - Business Ideas, Tips, Government Schemes & more
Great! Next, complete checkout for full access to OkCredit Blogs - Business Ideas, Tips, Government Schemes & more
Welcome back! You've successfully signed in.
Success! Your account is fully activated, you now have access to all content.
Success! Your billing info is updated.
Billing info update failed.
मोबाइल टावर लगवाकर घर बैठे करें कमाई

मोबाइल टावर लगवाकर घर बैठे करें कमाई

. 1 min read

घर बैठे बिना किसी लागत के 50 हज़ार से 1 लाख तक कमाएँ। इसके लिए आवश्यक है कि आपके पास ख़ाली ज़मीन, प्लॉट या फिर मकान की ख़ाली छत हो जहां आप आसानी से मोबाइल टावर लगवा सकें। मोबाइल टावर लगवाने के लिए आपको ज़मीन, प्लॉट, मकान की छत किराए पर देनी होती है। जिसके लिए आपको कम्पनियाँ किराया भी चुकाती हैं। जितनी बड़ी ज़मीन होती है उसी के हिसाब से किराया भी बंधा होता है। आप इसमें हर महीने 50 हज़ार से लेकर 1 लाख से ज़्यादा तक कमा सकते हैं। गाँव हो या शहर हर जगह आप इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। आजकल नेट्वर्क की बड़ी समस्या हो रही है। बढ़ते कंपटीशन के चलते हर कोई अपनी सर्विस बेहतरीन से बहतरीन देना चाहता है। ऐसे में हर कम्पनी ऐसी जगह तलाशती है जहां टावर को लगाया जा सके। यदि आप टावर के लिए अपना प्लॉट, ज़मीन या घर की छत देना चाहते हैं तो यह एक बेहतरीन बिज़नेस आइडिया है वो भी बिना किसी लागत के।

मोबाइल टावर कैसे लगवाएँ ?

भारत में कई टेलिकॉम कम्पनियाँ हैं जैसे जीयो, आइडिया, एयरटेल आदि। यह सभी टेलिकॉम कम्पनियाँ मोबाइल टावर लगाने वाली कम्पनियों को ऑर्डर देती हैं यदि आप भी टावर लगवाना चाहते हैं तो आपको उन कम्पनियों से सम्पर्क साधना होगा।

मोबाइल टावर लगाने के नाम पर बढ़ रहे धोका-धड़ी के मामले, कैसे सतर्क रहें व कैसे चयन करें सही एजेंट?

मोबाइल टावर लगाने के नाम पर बढ़ते धोका-धड़ी के मामले सामने आ रहे हैं ऐसे में आप कैसे चयन करें कि आप जिस कम्पनी से बात कर रहे हैं वो सही हैं। हम आपको बताते हैं कि आप किन कम्पनियों से सम्पर्क साध सकते हैं वो भी बिना किसी आशंका के। भारत में मोबाइल टावर लगाने वाली बहुत सी कम्पनियाँ हैं। यहाँ हम आपको कुछ प्रमुख कम्पनियों के बारे में बता रहे हैं जिनसे आप सम्पर्क कर सकते हैं।

इंडस टावर (Indus Tower) https://www.industowers.com/
भारती इंफ़्राटेल (Bharti Infratel) https://www.bharti-infratel.com/
एटीसी टावर (ATC Tower) http://www.atctower.in
जीटीएल इंफ्रास्ट्रक्चर (GTL Infrastructure) http://www.gtlinfra.com/

कैसे लगवाएँ अपनी ज़मीन पर मोबाइल टावर?

आप इन बताई हुई कम्पनियों से सम्पर्क करके अपने घर, या ख़ाली पड़ी ज़मीन पर मोबाइल टावर लगवा सकते हैं। इनकी वेबसाइट पर जाकर आप हेल्पलाइन नम्बर निकाल कर सम्पर्क करें या फिर ऑनलाइन आवेदन करें, कम्पनी फिर आपसे सम्पर्क साधेगी। जाँच पड़ताल के बाद यदि सब ठीक रहा तो कम्पनी आपके यहाँ टावर लगा देगी।

मोबाइल टावर लगवाने के कुछ ज़रूरी नियम :

  • यदि आप अपने घर की छत पर मोबाइल टावर लगवाना चाहते हैं तो आपकी छत का साइज़ 500 स्क्वायर फीट होना आवश्यक है।
  • यदि आप ख़ाली पड़े प्लॉट पर टावर लगवाना चाहते हैं तो प्लॉट का साइज़ 2000 500 स्क्वायर फीट होना चाहिए।
  • आप अगर अपनी ख़ाली पड़ी ज़मीन पर टावर लगवाना चाहते हैं तो ज़मीन का साइज़ 2500 स्क्वायर फीट होना अनिवार्य है।
  • आप जहां मोबाइल टावर लगवाना चाहते हैं तो उस एरिया के 100 मीटर के दायरे तक कोई हॉस्पिटल नहीं होना चाहिए।
  • आपके पास ज़मीन और नगर निगम या फिर ग्राम पंचायत का No Objection Certificate होना अनिवार्य है।

मोबाइल टावर लगवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज़ :

मोबाइल टावर लगवाने के लिए आपके पास इन सर्टिफ़िकट्स का होना अनिवार्य है।

  • Structural Safety Certificate
  • No Objection Certificate फ्रॉम लैंड ओनर और बिल्डिंग ओनर
  • नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट FROM म्युनिसिपेलिटी
  • बांड पेपर और एग्रीमेंट

मोबाइल टावर लगवाने के बाद कितनी कमाई हो सकती है?

  • आपके घर, प्लॉट या ज़मीन की लोकेशन भी इसमें मायने रखती है।
  • 7 हज़ार रुपए से 1 लाख तक हर महीने कमा सकते हैं।
  • गाँव या शहर में लोकेशन व आवश्यकता को ध्यान में रख कर ही कम्पनियाँ आपको ऑफ़र देंगीं।

आवश्यक सूचना : ध्यान दें कि टावर लगवाने के नाम पर मार्केट में बहुत से ठग घूम रहे हैं, जो आपको किसी ना किसी लालच में फँसा कर आपसे पैसा ऐंठ सकते हैं। ऐसे में आप पूरी विश्वसनीयता वाली कम्पनियों से ही सम्पर्क साधें। इसमें भी आपको दस्तावेज़ों को ध्यानपूर्वक पढ़ना होगा। जब आप हर तरह से संतुष्ट हो जाएँ तभी साइन करें।

यह भी पढ़ें:
ओला (OLA) कैब के साथ जुड़कर कमाई कैसे करें?
ई रिक्शा (इलेक्ट्रिक रिक्शा) बिज़नेस कैसे शुरू करें?
प्लांट नर्सरी का बिज़नेस कैसे करें?