कोरोना महामारी के बीच अपने बिजनेस के लिए कितना रखे स्टॉक?

. 1 min read
कोरोना महामारी के बीच अपने बिजनेस के लिए कितना रखे स्टॉक?

जानिए बिजनेस को सही रूप से चलाने की प्रक्रिया

वैश्विक महामारी कोविड-19 ने पूरी दुनिया में लाखों लोगों की जिंदगी को खतरे में डाल दिया है। इतना ही नहीं बल्कि वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए भी यह काफी संकट का समय है। कई लोग अपनी नौकरी और पैसे कमाने के स्रोत गंवा चुके हैं, जबकि कारोबारियों को भी अपने बिजनेस में काफी हानि हुई है। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि, देश में लॉकडाउन की स्थिति है। इस स्थिति में बाहर आना जाना और किसी भी तरह के सामान को लाना एक बड़ी चुनौती है। ऐसे में छोटे कारोबारियों को बिजनेस करने में काफी परेशानियां आ रही है। साथ ही वह अपने बिजनेस के लिए सही स्टॉक भी नहीं ला पा रहे हैं। यदि आप भी किसी तरह का बिजनेस करते हैं और कोरोना काल में आपका बिजनेस ठप पड़ा हुआ है तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे जरूरी टिप्स जिनकी वजह से आप अपनी वित्तीय स्थिति को मजबूत कर सकते हैं। इसके अलावा हम आपको बताएंगे कि, आप अपने बिजनेस को इस महामारी के बीच कैसे सुरक्षित रख सकते हैं? साथ ही अपने बिजनेस को सही रूप से चलाने के लिए आपको कितना स्टॉक रखना जरूरी है?

1. क्या है लॉकडाउन का प्रभाव?

सबसे पहले तो हम यह जान लेते हैं कि, आखिर महामारी कोविड-19 के आने के बाद लॉक डाउन की वजह से देश में कैसा माहौल है। बता दें, भारत में अधिकतम जनता गरीब और मध्यम वर्गीय है जबकि कई लोग अमीर भी है जो बिजनेस करते हैं। लॉकडाउन के चलते अमीर लोगों के बिजनेस भी रुके पड़े हुए हैं जबकि गरीब और मध्यमवर्गीय लोगों को अपनी सामान्य जरूरतों को पूरा करने के लिए भी काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। इतना ही नहीं बल्कि शहर में रहने वाली मजदूर आबादी अपने गांव की ओर जा चुकी है, वहीं शहरी लोग जिनके पास नौकरी या फिर खुद का बिजनेस है वह भी कई तरह की परेशानियों का सामना कर रहे हैं। ऐसे में यदि आप भी किसी तरह का बिजनेस करते हैं तो आपको लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि, इस महामारी के बीच आप अपने बिजनेस का संचालन कैसे करें?

2. बिजनेस के आधार पर रखें स्टॉक

बता दें, लॉकडाउन के माहौल में वह बिजनेस अच्छे से चल रहे हैं जो रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा कर रहे हैं। जैसे कि, दूध का बिजनेस, किराने की दुकान का बिजनेस, सब्जी बेचने का बिजनेस और मेडिकल का बिजनेस इत्यादि। यदि आप इनमें से एक भी चीज का व्यवसाय करते हैं तो आप केवल उतना ही स्टॉक रखें जितना हर रोज बिक्री हो सके। दरअसल सब्जी और दूध इस तरह का स्टॉक है जो जल्दी खराब हो जाता है। ऐसे में आपको मुनाफे की जगह घाटा हो सकता है। इसलिए आप जरूरत के अनुसार ही स्टॉक रखें।

3. सप्लायर के साथ मिलकर करें काम

जो भी व्यक्ति आपकी दुकान में माल की सप्लाई करता है उसके साथ आपको अच्छा संबंध बनाना होगा ताकि आपको आपकी जरूरत के अनुसार माल मिल सके। इसके अलावा आपको अपने सप्लायर्स के साथ-साथ ऐसे विकल्प को चुनना होगा जो बिजनेस करने के लिए आपको नए अवसर प्रदान कर सके, साथ ही आपके प्रोडक्ट की मांग बाजार में बढ़ा सकें। ऐसे में आपको उन लोगों से जुड़े रहना ज्यादा जरुरी है जो पहले से ही आपके बिजनेस के साथ जुड़े थे।

4. कच्चे माल की सप्लाई करने वाली कंपनियों का पहले करें भुगतान

ऐसे समय में जो कंपनियां आपको कच्चे माल की सप्लाई करती है, उनका भुगतान आप सबसे पहले करने की कोशिश करें। इसके लिए आप सभी सप्लायर से यह सुनिश्चित करें कि, वह ऑनलाइन पेमेंट के माध्यम से भुगतान प्राप्त कर सकते हैं या नहीं। यदि आपके सप्लायर इस तरह का पेमेंट स्वीकार नहीं करते हैं तो उन्हें बाद में रकम भुगतान करने का विश्वास दिलाएं। यदि वह ऑनलाइन पेमेंट स्वीकार कर लेते तो आपको किसी भी तरह की परेशानी नहीं आएगी और आप आसानी से माल मंगवा सकते हैं और साथ ही अपने सप्लायर का भुगतान भी कर सकते हैं।

5. बजट के अनुसार ही करें खर्च

किसी भी तरह का स्टॉक मंगवाने के लिए आप अपने बजट के अनुसार ही खर्च करें। दरअसल कोविड-19 महामारी एक ऐसा समय है जब आपको कम से कम बजट में अपना बिजनेस चलाना होगा। क्योंकि अधिक खर्च के बाद भी आप यह तय नहीं कर पाएंगे कि, आपके माल की बिक्री होगी या नहीं। ऐसे में कोशिश करें कि, कम ही माल मंगवाए और जब तक वह पूरी तरह से बिक ना जाए तब तक आपको अधिक माल नहीं मंगवाना चाहिए। इसके अलावा आपको वित्तीय कामों को करने के लिए जैसे किराए का भुगतान, ईएमआई, एमएनसी फंड बनाना और इंश्योरेंस प्रीमियम इत्यादि के खर्चों में कटौती के कदम उठाने की आवश्यकता है। इस समय आप को गैर जरूरी खर्चों से बचना चाहिए।

6. इन्वेंटरी के जरिए बिजनेस को करें मैनेज

बता दें, व्यापार में इन्वेंटरी को बैलेंस शीट पर एक संपत्ति बताया गया है। इसके जरिए आप कच्चे माल, तैयार माल और प्रगति पर काम जैसे तीनों तरीके को अच्छे से ट्रैक कर सकते है। इन्वेंटरी प्रबंधन सिस्टम आपको यह विश्लेषण करने की अनुमति देता है कि, कोई भी प्रोडक्ट कितना चल रहा है साथ आपको यह जानकारी प्रदान करते हैं कि, प्रोडक्ट की बिक्री धीमी गति से चल रही है या तेज गति से। कोविड- 19 बीमारी के बीच बिजनेस को निरंतर चलाने के लिए आपको थोड़ा फुर्तीला और एनर्जेटिक बनना होगा। इसके अलावा आपको ऐसे अभियान शुरू करने होंगे जिसके तहत आप अपने माल की बिक्री कर सकें। बता दें, ज्यादातर लोग ऑनलाइन प्रोडक्ट खरीदने से पहले ग्राहकों की समीक्षा चाहते हैं, इसलिए विक्रेताओं को प्रोत्साहित करने के साथ-साथ आपको ट्यूटोरियल जैसे अभियान चलाने का भी प्रयास करना चाहिए। आपका बिजनेस सही रूप से चल सके इसके लिए आपको अपनी टीम के साथ अलग -लग अभियान शुरू करने होंगे। ऐसा करने से आप अधिक लोगों को अपनी तरफ आकर्षित कर सकते हैं।

7. चुनौतियों का करें सामना

यह एक ऐसा समय है जब आपको कई चुनौतियों का सामना करना होगा। आपकी थोड़ी सी निराश आपके बिजनेस को बंद करवा सकती है। ऐसे में आप हार न माने और कर्मचारियों के साथ मार्केट में टिके रहे हैं। हो सकता है कि, इस समय आपको ग्राहकों की कम प्रतिक्रिया मिल सकें लेकिन समय के अनुसार आपको अधिक लोग भी मिल जाएंगे। आप कोशिश करें कि, बिजनेस चलाने के लिए नए-नए विकल्प अपनाएं ताकि आसानी से आपके प्रोडक्ट की बिक्री हो जाए। इसके लिए आप एक ऐसी टीम तैयार करें जिसके साथ आप सोशल मीडिया के माध्यम से भी अपने बिजनेस को प्रमोट कर पाए। सोशल मीडिया एक ऐसा प्लेटफार्म है जिसके जरिए आप  किसी भी बिजनेस को आसानी से सफल बना सकते हैं। इसके माध्यम से आप घर बैठे ही अधिक से अधिक लोगों से जुड़ पाएंगे और उन्हें अपने बिजनेस की सारी जानकारियां अच्छे से दे सकते हैं। कोरोना महामारी के बीच बिजनेस चलाने के लिए सोशल मीडिया से अच्छा कोई सरल और सुरक्षित साधन नहीं है।

8. इमरजेंसी फंड का उपयोग

ऐसे समय में आपके पास प्रोटक्शन फंड या इमरजेंसी फंड होना बहुत ही जरूरी है। आपके पास 3 से 6 महीने के लिए रोजमर्रा के खर्च को पूरा करने के लिए अलग अमाउंट होना जरूरी है। बता दे, इस फंड का इस्तेमाल आप तभी करें जब आपको जरूरत से ज्यादा इमरजेंसी हो। यदि आपको बिजनेस से जुड़ा हुआ कोई जरुरी काम करना है तो आप इस फंड का उपयोग कर सकते हैं।

9. क्षमता के अनुसार ले लोन

इस समय में यदि आपको किसी प्रकार के लोन की जरूरत है तो आप लोन तभी ले जब आपके पास लोन का पूर्ण भुगतान करने की क्षमता हो। यदि आप अपने बजट के अनुसार लोन लेते हैं तो आप इसे आसानी से चुका पाएंगे। यदि आप बजट के अनुसार लोन नहीं लेंगे तो भविष्य में आपको अधिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। गौरतलब है कि, इस महामारी की वजह से हर किसी का काम रुका पड़ा हुआ है और बिजनेस में भी कोई खास कमाई नहीं हो रही है। तो आप पहले यह तक कर लें कि, आप सही समय पर लोन चुका पाएंगे या नहीं। यदि नहीं तो आप इस महामारी के बीच लोन लेने का विचार बदल दें। फिलहाल आप कम निवेश में ही बिजनेस का संचालन करें.

10. भविष्य के लिए लक्ष्य तैयार करें

कोविड- 19 महामारी के बीच आपके द्वारा शुरू किए बिजनेस को भले ही मनचाहा स्टार्ट मिल गया हो लेकिन इसका यह मतलब बिल्कुल भी नहीं है कि, आप अपनी सफलता को फॉर ग्रांटेड ले ले। इसलिए आप छोटे-छोटे लक्ष्यों को तय करें और उन्हें पूरा करने की कोशिश करें। इसके अलावा आप अपने ग्राहक से अपने प्रोडक्ट के बारे में फीडबैक ले ताकि आप प्रोडक्ट में और भी बदलाव कर सके और इन्हें बेहतरीन बना सके। लक्ष्य के हिसाब से काम करने के लिए आप को आपका बिजनेस कभी भी खत्म नहीं होगा। कोशिश करें आपके बिजनेस से जुड़ा हुआ कोई भी ग्राहक आपसे दूर न जाने पाए।

यह भी पढ़े :

1) टॉप 50 बिज़नेस आइडियाज़ इन हिंदी
2) जानिए कैसे खोला जाता है प्रदूषण जांच केंद्र ?
3) ऑर्गेनिक फूड का बिजनेस कैसे करें?
4) OK Credit क्या है? कैसे ये आपका बिजनेस बढ़ाने में सहायक है?

OkCredit के ब्लॉग के साथ पाएँ बेस्ट बिज़नेस आइडीयाज़ और बिज़नेस टिप्स कई भाषाओं में जैसे की हिंदी, अंग्रेज़ी, मलयालम, मराठी और भी कई भाषाओं में.
डाउनलोड करें OkCredit अभी और छुटकारा पाएँ रोज़ की झंझट से.
OkCredit 100% भारत में बनाया हुआ ऐप है!