You've successfully subscribed to OkCredit Blogs - Business Ideas, Tips, Government Schemes & more
Great! Next, complete checkout for full access to OkCredit Blogs - Business Ideas, Tips, Government Schemes & more
Welcome back! You've successfully signed in.
Success! Your account is fully activated, you now have access to all content.
Success! Your billing info is updated.
Billing info update failed.
ई-कॉमर्स बिज़नेस की शुरुआत कैसे करें?

ई-कॉमर्स बिज़नेस की शुरुआत कैसे करें?

. 1 min read

आज का युग डिजिटल है। हमारी रोज़ की शॉपिंग से लेकर हमारे कैश के लेन-देन तक सब कुछ ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स पर आ गया है। ये ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स हमारी ज़रूरतें बिलकुल उसी तरह पूरी करते हैं जैसे कि बगल की कोई दुकान। इस डिजिटल होते समाज के डिजिटल ट्रेंड के साथ कदम मिलाकर चलने के लिए, आज कई रिटेल स्टोर्स अपना बिज़नेस ऑनलाइन लाने के विषय में सोच रहे हैं। माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक और दुनिया के सबसे अमीर लोगों में शुमार बिल गेट्स ने तो ई-कॉमर्स बिज़नेस के बारे में यह तक कह दिया कि आने वाले समय में यदि आपका व्यवसाय इंटरनेट पर नहीं है, तो आपका व्यवसाय, व्यवसाय क्षेत्र से बाहर हो जाएगा।

क्या है यह ई-कॉमर्स ?

ई-कॉमर्स का मतलब इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स या इंटरनेट कॉमर्स होता है। इंटरनेट की मदद से उत्पादों, सेवाओं, पैसों और डाटा आदि का लेन-देन ई-कॉमर्स के अंतर्गत आता है। अमूमन इस शब्द का प्रयोग उत्पादों की भौतिक खरीद-फरोख्त के लिए किया जाता है, परन्तु ई-कॉमर्स इंटरनेट पर होने वाले हर तरह के व्यावसायिक व्यवहार को शामिल करता है।

भारत में ई-कॉमर्स बिज़नेस का स्कोप

ई-कॉमर्स ने भारत में बिज़नेस करने के तरीका बदल दिया है। साल 2026 तक भारतीय ई-कॉमर्स मार्किट 200 बिलियन अमरीकी डॉलर तक बढ़ने की संभावना है। साल 2017 में यह आंकड़ा 38.5 बिलियन अमरीकी डॉलर था। इस इंडस्ट्री की अधिकतर ग्रोथ इंटरनेट और स्मार्टफोन के बढ़ते उपयोग के कारण हुई है। भारत में जो डिजिटल क्रांति चल रही है, उसके हिसाब से भारत में इंटरनेट उपभोक्ताओं की संख्या साल 2019 के 636.73 मिलियन के मुकाबले 2021 में 829 मिलियन की संख्या पार कर सकती है। भारत की इंटरनेट इकॉनमी ई-कॉमर्स के चलते 2020 में 250 मिलियन अमरीकी डॉलर तक पहुँच सकती है। ई-कॉमर्स से होने वाली कमाई भी साल 2020 में 51 प्रतिशत की सालाना बढ़त-दर के साथ 120 बिलियन अमरीकी डॉलर तक पहुँच सकती है। फिलहाल यह ग्रोथ रेट विश्व में सबसे अधिक है।

क्या हैं ई-कॉमर्स बिज़नेस शुरू करने के स्टेप्स?

एक बिज़नेस प्लान और मॉडल बनाएं

प्लानिंग की जितनी ज़रूरत एक ईंट-सीमेंट से बनी दुकान खोलने में है, उतनी ही ज़रूरत एक ई-कॉमर्स सेटअप खोलने में भी है। आज के गला-काट प्रतिस्पर्धा के दौर में बिना तैयारी के मैदान में उतरना बेवकूफी ही है।  बिना एक मॉडल प्लान के आपके फेल होने के चांसेस काफी बढ़ जाते हैं।

चुनें कि आप क्या बेचना चाहते हैं

ऑनलाइन बेचने के लिए सही उत्पादों का चुनाव भी बहुत ज़रूरी है। यह आपके बिज़नेस के रूप, फायदे और लम्बे समय तक आने वाली सफलता का फैसला करता है। कई तरह के प्रोडक्ट्स हैं जो आप ऑनलाइन बेच सकते हैं। आप चाहे तो पहले किसी एक केटेगरी से शुरू कर बाद में अपनी प्रोडक्ट लाइन और बढ़ा सकते हैं। अपने बजट और उपलब्ध साधनों के मुताबिक आप यह निर्णय ले सकते हैं। कस्टमर्स की पसंद -नापसंद, ट्रेंड आदि का भी ख़ास ख्याल रखें।

अपनी एक ई-कॉमर्स वेबसाइट बनाएं

आजकल कई ऐसे ऑनलाइन टूल्स उपलब्ध हैं जिनकी मदद से आप अपने ऑनलाइन स्टोर की वेबसाइट बना सकते हैं। इन टूल्स ने यह बनाना उतना ही आसान कर दिया है जितना की एक फेसबुक अकाउंट बनाना।

अपने प्रोडक्ट के फोटो/ वीडियो अपलोड करें और बेचना शुरू कर दें

एक बार आप अपना ऑनलाइन स्टोर सेटअप कर लेते हैं, उसके बाद आप अपने प्रोडक्ट की डिटेल्स अपलोड कर अपनी सेल शुरू कर सकते हैं।

कुछ अन्य ज़रूरी बातें:

  • एक ई-कॉमर्स बिज़नेस प्लान करना उतना मुश्किल नहीं हैं, जितना कि उस प्लान को लागू कर के उसका संचालन करना। आज कल जिस तरह के साधन और जानकारियां उपलब्ध हैं, उनका इस्तेमाल करके आप यह प्लानिंग कभी भी कर सकते हैं।  हालाँकि असली मेहनत इस प्लान को सच करने में लगती है। किसी भी बिज़नेस को ऑनलाइन ले जाने से पहले कुछ बातें पहले से ही डिसाइड कर लेनी चाहिए। यह आगे जाकर आपके लॉस की संभावनाओं को कम करता है।
  • सबसे पहले तो यह क्लियर रखें कि आपके टारगेट कस्टमर कौन होंगे और आप किस स्तर पर अपना बिज़नेस ऑपरेट कर रहे होंगे। चुनें कि आप अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर डिलीवरी करेंगे या घरेलू या फिर पूरे देश में ? आपके पास मौजूदा क्षमताओं और अच्छे प्रॉफिट की संभावनाओं के आधार पर यह निर्णय लें।
  • जो भी उत्पाद आप ऑनलाइन बेचना चाहते हैं, उसका एक न्यूनतम स्टॉक अपने पास तैयार रखें। जैसे ही कोई कस्टमर आर्डर लगाता है, आप इतने सक्षम होने चाहिए कि समय पर उसे उसके मनचाहे प्रोडक्ट्स डिलीवर कर सकें। ऐसा कर पाने से आपका नाम बढ़ेगा और कस्टमर के साथ आपका रिश्ता और मज़बूत होगा।
  • अपने शिपिंग पार्टनर्स के टच में रहे। रेट्स आदि पर बातचीत बनाए रखें। एक सफल ऑनलाइन बिज़नेस के लिए यह ज़रूरी है कि बिज़नेस चलाने से जुड़े सभी लेन-देन आदि पर आपकी पैनी नज़र बनी रहे।

बिज़नेस और कस्टमर्स की मांगों के साथ कदम मिलाकर आप तभी चल पाएंगे जब आप पहले से ही सभी ज़रूरी जानकारियों और संसाधनों के साथ तैयार रहेंगे। अपने आसपास अमेज़न, फ्लिपकार्ट आदि जैसे ई-कॉमर्स बिज़नेस पर नज़र डालेंगे तो आप पाएंगे कि इनकी ताकत इनकी अपडेटेड जानकारियां ही हैं, जिनके अनुसार उपयुक्त सेवाएं देकर, वे हर दिन अपने ग्राहकों की बदलती मांगें संतुष्ट कर पाते हैं।

इसके अलावा पढ़ें घर बैठे बिज़नेस करने के टिप्स जो आपको दे सकते हैं अच्छा ख़ासा मुनाफ़ा!

यह भी पढ़ें:
महिलाएँ घर बैठे बोर हो रही हैं तो शुरू करें ये घरेलू बिज़नेस, जिनसे होगी तगड़ी कमाई
कैसे सुनिश्चित करें त्योहार के सीज़न में अधिक बिक्री?